Movie Review: ‘मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर’ एक ज़रूरी फ़िल्म

5
SHARE

Jagran

Publish Date:Fri, 15 Mar 2019 

फिल्म- मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर (Mere Pyare Prime Minister)

स्टारकास्ट: अंजलि पाटिल, अतुल कुलकर्णी, मकरंद देशपांडे आदि

निर्देशक: राकेश ओम प्रकाश मेहरा

निर्माता: राकेश ओम प्रकाश मेहरा और अन्य

सामाजिक मुद्दों पर फिल्म की टूटी हुई परंपरा पिछले कुछ समय से एक बार शुरू हो गई है। टॉयलेट एक प्रेम कथा, पैडमैन, दंगल हो या पिंक अब सिनेमा एक बार फिर से सामाजिक विषयों से जुड़ी बुराइयों की बात करने लगा है। सबसे अच्छी बात यह भी कि इस तरह की फिल्मों में किसी तरह के आडंबर का सहारा नहीं लिया जा रहा है। इसी परंपरा में रंग दे बसंती और भाग मिल्खा भाग जैसी फिल्में बनाने वाले निर्देशक राकेश ओमप्रकाश मेहरा की फिल्म मेरे प्यारे प्राइम मिनिस्टर रिलीज़ हो रही है।

फिल्म का नाम सुनते ही सबसे पहले दिमाग में यह आना लाज़मी हो जाता है कि फिल्म बनाने का मकसद कुछ और है? लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि फिल्म बनाने का मकसद कोई राजनीतिक नहीं बल्कि एक नितांत सामाजिक फिल्म बनाने की नीयत से है। फिल्म की कहानी है घाटकोपर की झोपड़ी में रहने वाले एक मां-बेटे की। मां दिनभर कढ़ाई का काम करती है और उसका छोटा बेटा पूरे स्लम में उधम मचाता रहता है। वह पढ़ाई भी करता है और कई धागों से डायरेक्टर ने बस्तियों के संघर्ष को अपनी फिल्म में समेटा है।